Sad Shayari

Sad Shayari

sad shayari

Sad Shayari
नज़र आता है हमें दर-ओ-दीवार पर घर की,
और वो शख़्स होकर भी यहाँ नहीं होता।
तुम्हारी नज़रों से उतरे तो ये समझ आया,
कि दुनिया में बस एक ही जहां नहीं होता।

sad shayari

अजीब हुनर है ये मेरे हाथों में शायरी का ,
मैं बरबादियाँ लिखता हूँ और लोग वह वह करते हैं

sad shayari

Sad Shayari
एक उम्र है जो मुझे बितानी है उसके बगैर ,
और एक रात है जो मुझसे कटती नहीं

sad shayari

कोई नही था और न होगा
तेरे जितना करीब मेरे दिल के

sad shayari

Sad Shayari
जब मिलो किसीसे तो ज़रा दूर का रिश्ता रखना ,
बहुत तड़पते हैं अक्सर यह सीने से लगाने वाले

sad shayari

कम ही होते हैं जज्बातों को समझने वाले,
इसलिए शायद शायरों की बस्तियाँ नहीं होती

sad shayari

Sad Shayari
अपने ही होते है जो दिल पर वार करते है !
गैरों को क्या खबर दिल किस बात पर दुखता है

sad shayari

ये जो ज़िन्दगी है ना
तेरे बिन अधूरी है

sad shayari

Sad Shayari
तबाह होकर भी तबाही दिखती नही,
ये इश्क़ है इसकी दवा कहीं बिकती नहीं

sad shayari

नींद चुराने वाले पूछते हैं सोते क्यू नही….!!!
इतनी ही फिक्र है तो फिर हमारे होते क्यू नही

Suvichar

Previous page 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19 20 21 22 23 24 25 26 27 28 29 30 31Next page

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button