Desh Bhakti Shayari

Desh Bhakti Shayari

Desh Bhakti Shayari Images

Desh Bhakti Shayari

Desh Bhakti Shayari
जब देश में थी दिवाली, वो झेल रहे थे
गोली जब हम बैठे थे घरों में,
वो खेल रहे थे होली क्या लोग थे
वो अभिमानी है धन्य वो उनकी जवानी

Desh Bhakti Shayari

गुलाम बने इस देश को आजाद तुमने कराया है
सुरक्षित जीवन देकर तुमने कर्ज अपना चुकाया है
दिल से तुमको नमन हैं करते
ये आजाद वतन जो दिलाया है

Desh Bhakti Shayari

Desh Bhakti Shayari
मेरे देश तुझको नमन है मेरा,
जीऊं तो जुबां पर नाम हो तेरा
मरूं तो तिरंगा कफन हो मेरा

Desh Bhakti Shayari

अधिकार मिलते नहीं लिए जाते हैं
आजाद हैं मगर गुलामी किये जाते हैं
वंदन करो उन सेनानियों को
जो मौत के आँचल में जिए जाते हैं

Desh Bhakti Shayari

Desh Bhakti Shayari
पूरा सम्मान वो पाएगा,
मेहमान जो बन कर आएगा,
जो आँख उठी दुश्मन की तो,
मिटटी में मिलाया जाएगा।

Desh Bhakti Shayari

कुछ नशा तिरंगे की आन का है,
कुछ नशा मातृभूमि की मान का है,
हम लहरायेंगे हर जगह ये तिरंगा,
नशा ये हिन्दुस्तान की शान का है….

Desh Bhakti Shayari

ऐ मेरे प्यारे वतन, ऐ मेरे पिछड़े
चमन तुझ पे दिल कुर्बान

Desh Bhakti Shayari

Desh Bhakti Shayari
खुशनसीब हैं वो जो वतन पर मिट जाते हैं,
मरकर भी वो लोग अमर हो जाते हैं,
करता हूँ उन्हें सलाम ए वतन पे मिटने वालों,
तुम्हारी हर साँस में तिरंगे का नसीब बसता है…

Desh Bhakti Shayari

गद्दार थे वो लोग जिन्होंने सरहद पर रेखा खींची है,
यूँ ही नहीं मिली आज़ादी हमको,
इसे शहीदों ने खून से सींची है।

Desh Bhakti Shayari

Desh Bhakti Shayari
देशभक्तों से ही देश की शान है
देशभक्तों से ही देश का मान है
हम उस देश के फूल हैं यारों
जिस देश का नाम हिंदुस्तान है

Previous page 1 2 3 4 5 6Next page

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button