Armaan Shayari

Armaan Shayari

Images For Armaan Shayari

Armaan Shayari

Armaan Shayari
सरफ़रोशी की तमन्ना अब हमारे
दिल में है, देखना है जोर कितना
बाजु-ए-कातिल में है ।एक से करता नहीं
क्यों दूसरा कुछ बातचीत, देखता हूँ मैं
जिसे वो चुप तेरी महफिल में है ।

Armaan Shayari

Armaan Shayari
तमन्ना दिल की एक हसरत है, पूरी हो
जाए तो इनसान खुश किस्मत है। न
पूरी हो, तो गम न करना, क्योकि अधूरी
रहना तो, तमन्नाओ की फितरत है।

Armaan Shayari

Armaan Shayari
फिर से एक बार दिल में तेरा होने की तमन्ना
है,तुम्हारे ही ख्यालों में खोने की तमन्ना
है,मुद्दत से इन आँखों में तराविश नहीं
झलकी,आकर फिर से रुला जाओ, के फिर
रोने की तमन्ना है,

Armaan Shayari

Armaan Shayari
मैं उस की खातिर तड़पता रहा
शाम ओ शहर अरमान न होता
गर उसने एक आंसू ही बहाया होता

Armaan Shayari

Armaan Shayari
आशिक के दिल की ख्वाहिशो अरमान हैं
आँखें,कुछ दिन से ये लगता है, परेशान हैं
आँखें,एक दिन तुझे देखा था, किसी राह
गुज़र पे,उस दिन से उसी राह पे,
मेहमान हैं आँखें.

Armaan Shayari

Armaan Shayari
लब पे आती है दुआ बनके तमन्ना मेरी
ज़िन्दगी शम्मा की सूरत हो ख़ुदाया
मेरी दूर दुनिया का मेरे दम अन्धेरा हो
जाये हर जगह मेरे चमकने से उजाला
हो जाये

Armaan Shayari

Armaan Shayari
हमें तो उनसे मोहब्बत है मौत से भी प्यार
है,उन पर पूरा यकीन और मौत पर पूरा
ऐतबार है,देखते हैं पहले कौन आता
है,अरमान को दोनों का इंतज़ार है.

Armaan Shayari

ना शेर चाहियें, ना शायरी चाहियें,दिल
के अरमान सिर्फ कागज पे चाहियें, ना तु
चाहियें, ना तुम्हारा प्यार चाहियें,बस हमारे
रिश्ते का कुछ नाम चाहियें.

Armaan Shayari

Armaan Shayari
दिल के अरमान एक एक कर टूटे हैं आखों
मे बसें ख्वाब सभी झूठे हैं।कैसे भुला दूँ मैं
उसकी यादों को मुह से लगे जाम भी क्या
कभी छूटे है।दिल से ना जाने कैसी खता
हो गयी हैचांद को चाहा तो सितारे मुझ
से रुठें हैं।

Armaan Shayari

पलकों में कैद रहने दो सपनो को,उन्हें
तो हकीक़त में बदलना है,इन आँखों
की तो एक ही तमन्ना है,की हर वक़्त
आपको मुस्कुराते देखना है

Previous page 1 2 3 4 5Next page

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button