Alone Shayari

Alone Shayari

Alone Shayari in Hindi

Alone Shayari

Alone Shayari
बहुत अजीब हैं ये मोहब्बत करने वाले,
बेवफाई करो तो रोते हैं और वफा करो तो रुलाते हैं।

Alone Shayari

आंखों में जिनके बस गई दुनिया भर की रौनकें
वो शख्स बेवफाई का एक जिंदा मिसाल था।

Alone Shayari

तेरी हर उदासी दूर कर के
तेरी हर मैली यादों को साफ कर दू मै
तू मुझे इजाजत तो दे…
तुझे छू लूँ और आफताब कर दू मैं l

Alone Shayari

तेरे पैग़ाम के इंतजार मे दिन गुजार दिया,
अब रहने देना ख्वाबों मे मिल लूंगा रात मे।

Alone Shayari

Alone Shayari
अच्छी किताबें और अच्छे लोग
तुरंत समझ में नहीं आते हैं,
उन्हें पढना पड़ता हैं।

Alone Shayari

मै चाहे अकेली रहू
या किसी के लिए रोती रहू
किसी को कोई फर्क ही नही पडता।

Alone Shayari

माँगा था जिसे हर दुआ में तलबगार की तरह
वो पलटता रहा मुझे सिर्फ अख़बार की तरह।
बेहिसाब की थी मुहब्बत मैंने उससे,
दिल में रखता है दिमाग वो, कारोबार की तरह।

Alone Shayari

Alone Shayari
मुलाकाते तो आज भी हो जाती है तुम से
मेरे ख्वाब किसी मजबूरी के मोहताज नही।

Alone Shayari

ये सारा खेल वक्त का ही तो है
जिसने हमे बदला भी और तोड़ा भी।

Alone Shayari

जरा मुस्कराना भि सिखा दे ए जिंदगी
रोना तो पैदा होते ही सीख लिया था।

Previous page 1 2 3 4 5Next page

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button