Alone Shayari

Alone Shayari

Alone Shayari Images

Alone Shayari

Alone Shayari
इश्क़ बया कर दिया तो अधूरा रहे गया,
बात दिल में रखते तो मोहब्बत आज भी होती।

Alone Shayari

सँवरना ही हैं तो किसी की नजरों में सँवरिये जनाब,
काँच के आईने से खुद का मिजाज पूछा नहीं करते।

Alone Shayari

मै खुद भी अपने लिए अजनबी हूँ !
मुझे ग़ैर कहने वालो तुम्हारी बातों में दम है!

Alone Shayari

Alone Shayari
इक आईना ही तो हैै” जो खुद को खुद से रूबरु कराता है!
लोगे के सामने तो अकसर मुसकुरा ही देता है ” हर कोई!

Alone Shayari

आँख तो प्यार में दिल की ज़ुबान होती है
सच्ची चाहत तो सदा बे-ज़ुबान होती है
प्यार में दर्द भी मिले तो क्या घबराना,
सुना है दर्द से ही चाहत और जवान होती है।

Alone Shayari

कोई हाथ ना मिलाएगा
जो गले मिलोगे तपाक से ,
यह नए जमाने का शहर है
जरा फासले से मिला करो।

Alone Shayari

Alone Shayari
खामोशी खा गयी जज्बात मेरे ,
शोर पूछता रहा माजरा क्या है।

Alone Shayari

जिसकी बेरुखी इतनी बढ गई हो!
तो अलफाज खूबसूरत हो ही नही सकते “उस के लिये।

Alone Shayari

फरक नही पडता अब ” रौशनी या अंधेरो से !
अपने लिये ना सही ” सीख लिया जिना दूसरो के लिये”!

Alone Shayari

Alone Shayari
जब लगा था ‘तीर’ तब इतना दर्द ना हुआ।
‘ग़ालिब’ जख्म का एहसास तब हुआ
जब ‘कमान’ देखी अपनों के हाथ में।

Previous page 1 2 3 4 5Next page

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button